लोन लेने से पहले जान ले ये जरुरी बाते वरना आपको पछताना पड़ सकता है (you need to know before taking a loan,Otherwise you may have to repent)

लोन लेने से पहले जान ले ये जरुरी बाते वरना आपको पछताना पड़ सकता है 
(you need to know before taking a loan,Otherwise  you may have to repent)
bank loan


क्या आप भी लोन ले रहे है ?


वह समय गया जब लोग उधार लेने की जगह अपने खर्चो में कटौती करना अधिक पसंद करते थे. लोन यानी मज़बूरी का नाम. पर समय के साथ लोन को लेकर लोगो की सोच में बदलाव आया है. यही वजह है की पिछले कुछ समय में मध्यम आय वर्ग के लोगो के परिवारों में जरुरत के मौको के अलावा प्रॉपर्टी , घरेलु सामान , विदेश यात्रा, त्यौहार आदि  के मौके पर अतिरिक्त खरीददारी और सुविधाओं के लिए लोन लेने की प्रवृति देखने को मिल रही है. इस मामले में महिलाओ की भूमिका भी अहम् है. खासतौर पर बड़े शहरो में जहा कामकाजी महिलाओ की खर्च भी भागीदारी बढ़ी है वे लोन के जरिये घरेलु जरुरत की चीज़ो से लेकर प्रॉपर्टी और गहनों में भी निवेश करने के प्रति आकर्षित हुई है . 


लोन लेते समय रखे ध्यान -

लोन हमेसा ऐसी संपत्ति के लिए ले , भबिष्या में जिसका मूल्य बढ़ने की संभावना हो. हमेसा अपनी आधारभूत जरूरतों से समझौता किया बिना लोन ले, जैसे अगर आप भबिष्या में मुनाफा देने वाले बिसनेस के लिए लोन लेते है या फिर अपना घर बनाने के लिए लोन लेते है तो यह लोन लेने की इच्छा वजह हो सकती है. वही सैर सपाटे के लिए लोन लेना समझदारी नहीं है .

चाहे क्रेडिट कार्ड से हो या फिर कोई अन्य लोन, अपनी वार्षिक आय के 20  प्रतिशत से अधिक राशि का लोन न ले,  इसी तरह लोन लेते वक़्त इस बात का ध्यान रखे की आपको हर माह आय का 10 प्रतिशत से अधिक का भुगतान लोन चुकाने में न करना पड़े.  इससे दूसरी जरूरतों में संतुलन बनाकर रख सकेंगे. 

बेहतर होगा की अपने पुरे पिरवार के लिए सेहत सम्बन्धी पालिसी ले ले, पर यदि ऐसी कोई पालिसी नहीं है तो सेहत सम्बन्धी मामलो में लोन लेने से परहेज न करे. 

यदि आप किसी संपत्ति मसलन सोना, म्यूच्यूअल फंड, या प्रॉपर्टी के बदले लोन लेते है तो , ऐश व सुबिधाओ के बजाये किसी ऐसी संपत्ति के लिए ही लोन ले जो आपकी भावी आय या प्रॉपर्टी को बढ़ाने वाला हो. अन्यथा भुगतान न होने की स्थिति में आपके हाथ से संपत्ति भी जाएगी. 

कई बार अधिक मुनाफा कमाने की चाह में लोग महंगी दरों वाले परसनल लोन लेकर गहने और शेयर में निवेश करते है, इस सम्बन्ध में सोच  समझकर फैसला ले. बच्चो की शादी में या निजी जरुरत के लिए सोने की खरीदारी के लिए शुरुवात से ही थोड़ा थोड़ा निवेश करते हुए चलना बेहतर नीति होगी.  बिना किसी विसेसग्य की सलाह या बगैर बाजार की जानकारी के शेयर आदि में निवेश करने से बचे. 

कार और घर के सम्बन्घ में कई बार डीलर व डेवलपर का कुछ ख़ास बैंको से अनुबंध होता है . ये बैंक आपको अधिक आकर्षण छूट के साथ अधिक राशि तक का लोन भी देते है. ऐसे में सतर्कता से इसकी शर्तो को जरूर पढ़े. 

सोने आदि की खरीद दारी के लिए लोन लेते समय सोने की शुद्धता , बैंक लाकर में रखने का खर्च और उसमे लगे नग व महंगे पत्थरो की रिटर्न वैल्यू के साथ अपनी भावी जरुरत का भी ध्यान रखे. 

लोन लेने में जल्दबाजी न करे. अपनी जरुरत के लिए योजना बनाये और फिर ऐसी वस्तु के लिए लोन न ले जिसके लिए आप कुछ समय रुक सकते है .


क्रेडिट कार्ड के जाल में न फसे - 

क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल में जितना आसान है , उतना ही उसमे सावधानी बरतने की जरुरत है, ध्यान रखे यह मुफ्त का पैसा नहीं है. बल्कि यह महंगा सौदा है . यह एक तरह से ऐसा लोन है, जिसकी ब्याज दरे 40 फीसदी सालाना तक महंगी हो सकती है. क्रेडिट कार्ड से ऐसी खरीद दारी करे जो आपके लिए माह के अंत तक उपयोगी हो, मसलन क्रेडिट कार्ड से 20  हजार रूपये का फोन लेना महीने की शुरुवात में बेहतर हो सकता है, पर अंतिम सप्ताह में वह आपको काफी महंगा साबित होगा. दूसरी बात अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल सोच- समझकर करे. साथ ही क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते समय भुगतान की तिथि अवस्य ध्यान रखे , अन्यथा उच्च दर से ब्याज का भुगतान करना होगा और पेनल्टी भी देनी पड़ सकती है.  
credit cards


एजुकेशन लोन है ना - 

स्कूल की पढाई पर खर्च लगातार बढ़ रहा है. एक सर्वे के अनुसार 2005 की तुलना में वर्तमान में पब्लिक स्कूलों की पढाई पर होने वाला खर्च तीन गुना तक बढ़ गया है. ऐसी में आप उच्चशिक्षा का बोझ अभिभावकों पर डालने से संकोच करे रहे है तो एजुकेशन लोन ले सकते है . भारत में पढ़ने के लिए दस लाख रूपये और विदेश में पढ़ने के लिए बीस लाख रूपये तक का लोन मिलता है. आमतौर पर एजुकेशन लोन दस से 18 % की ब्याज दर पर उपलब्ध है. यह इस पर निर्भर करता है की लोन किसी बैंक से लिया जा रहा है और किस कोर्स के लिए आवेदन कर रहे है. लोन का भुगतान नौकरी मिलने के बाद या कोर्स पूरा होने के 6  महीने बाद जो भी पहले हो करना शुरू कर सकते है. यदि आपको कोर्स पूरा होने के बाद नौकरी नहीं मिलती या आप भुगतान करने में असमर्थ है  तो लोन का भुगतान गारंटी देने वाले व्यक्ति को करना होगा. 
education loans


घर ले लिए लोन - 

मध्यम आय वर्ग के के परिवारों के अपने घर के सपने  होम लोन ने आसान बना दिया है. हलाकि , लोन मिलना इतना आसान भी नहीं होता, खासतौर पर यदि आपने पहले से कोई तैयारी नहीं की हो तो

घर खरीदने की योजना बनाते समय पहले खुद की आर्थिक छमता का मूल्यांकन अच्छी तरह से कर ले. अगर आपको लगता है की आपको होम लोन लेने के साथ साथ परिवार के खर्चो को चलाने की छमता है और भावी स्थायी आया से किस्तों का भुगतान कर सकेंगे तो लोन अवस्य ले.

अधिकांश बैंक या वित्तीय संस्तान घर की कीमत के 80  फीसदी राशि तक का ही होम लोन देते है. बाकी 20  फीसदी की राशि का इंतजाम आपको खुद करना पड़ता है. इस सम्बन्ध में अपनी बचत को पूरी तरह टटोलना अच्छा रहेगा. 


home loans

SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment