बिना किसी दवा के थायरॉइड को जड़ से ख़तम करने का रामबाण इलाज



थायरॉइड के लक्षण और आयुर्वेदिक व योगात्मक रामबाण इलाज 



थाइराइड रोग  दिन प्रतिदिन बढ़ती  ही जा रही है किसी को जेनिटिक्ली ये प्रॉब्लम हो रही है तो 


ज्यादा ठंडा ज्यादा गरम हम खाते है कोका कोला पेप्सी कोल्ड्रिंक्स आदि पीते है 


और भी तीखे तले हुए पदार्थ ज्यादा कहते है 


शारीरिक श्रम काम हो गया है ऐसे बहोत से कारण है जिनके वजह से थाइराइड रोग हो जाता है 


थाइरॉएड की बीमारी एक बार हो जाये तो जिंदगी भर आपको altroxy 


और तमाम तरह की दूसरी एलोपैथी की गोलिया खानी पड़ती है उससे 


थाइराइड को थोड़ा बहोत कंट्रोल कर सकते है   


थाइराइड को कंट्रोल करते करते भी उनकी कॉम्प्लीकेशन्स तो और ज्यादा ही बढ़ते ही जाते है 


थाइरायड के कारण से आँखों का बहार आना 


थाइराइड के कारण से चक्कर आना 


थाइराइड के कारण से मोटापा का बढ़ना या अंडर वेट हो जाना 


हइपोथराइड हो या हिघ्प्रेरथाइरॉइड दोनों ही अवस्थाओं में कपालभाति 


और उज्जई प्राणायाम जबरदस्त लाभ करते है 


जिनको भी थाइराड की प्रॉब्लम है उन्हें कपालभाति प्राणायाम १०-१५ 


मिनट से लेकर के आधे घंटे तक रोज  करने से थाइराइड की प्रॉब्लम को ख़तम किया जा सकता है ...


और थाइरॉएड के लिए आसनो में सर्वांगासन और हलासन विषेस रूप से 


लाभ करते है.. जिनकी उम्र ज्यादा है जिनको हार्ट की प्रॉब्लम हैं high BP  


की प्रॉब्लम है सर्वाइकल स्पोंडिलाइटिस है वे सर्वांगासन और हलासन नहीं 


कर सकते वे उष्ट्रासन भी नहीं कर सकते...



वे हलके व्यायाम के रूप में गले को चारो और घुमाये  इससे भी गले के सभी रोगो में और थाइराइड के रोग में विषेस लाभ होता है..


जिनको थाइराड की प्रॉब्लम ज्यादा हो और एक्सरसाइज कोई न कर 


सकते हो आसान कोई न कर पाते हो तो वे कपालभाति  के साथ साथ 


उज्जई प्राणायाम बहुत जरुरी है वे 11  से लेकर के 21 बार तक कर सकते है..


कपालभाति प्राणायाम सास को तेजी से अंदर बहार करना 


और उज्जई प्राणायाम  गले को एकदम टाइट करके सास को अंदर भरना 


फिर दांये नाक को बंद करके बाए से सास को बहार छोड़ दे 


इसको 11  से लेकर के 21  बार तक कर सकते है 


थाइराइड के लिए बहुत जरुरी है दोनों हाथ में अंगूठे के निचे उठे हुए भाग 


को २-२ मिनट दबाने से थाइराइड के प्रॉब्लम में १००% लाभ हो जाता है 


हमने जो 5-5  10 - 10  सालो से थाइराड के लिए गोलियां खा रहे थे उनको 


योगाभ्यास कराया और हमने पाया की आज उनकी थाइराड की सब 


गोलिया बंद हो गई है किसी के १ महीने में किसी के २ महीने में किसी की 


३ महीने में तो किसी की 6  महीने में  थाइराइड गोलिया 100 % बंद हो जाती है....


वैसे भी जब पतंजलि योगपीठ  में  लोग आते है उनकी थाइराड की गोली 


पहले दिन से ही बंद करवा दी जाती है और थाइराइड की वजह से जिनका 


वजन बढ़ा होता है उन्हें भी पहले NORMAL  किया जाता है और देखा 


जाता है की आने से पहले उनका T3  T4  TSH  चेक कराया जाता है और 


गोलिया बंद करवाने के 7 दिन बाद हम देखते है की उनका T3 ,T4 , 


TSH  100 % कंट्रोल में आजाता है ये बहुत बड़ी बात आपको बता रहा हु....



इसमें दवा के तौर पर 50  gram त्रिकुटा चूर्ण  १० ग्राम प्रवाल पिष्टी या 


गोदन्ती भस्म मिलाकर रखे और आधा आधा ग्राम शहद के साथ सेवन करे 


और जिनका थायरड के कारन से मोटापा भी ज्यादा बढ़ा हुआ है उनको 


१-१ गोली मेदोहर वटी, काचनार गुग्गुल व बृद्धि वाधिका वटी का सेवन 


भोजन करने के बाद करना चाइये.. और सुबह खाली पेट गऊ मूत्र का अर्क 


पिए . इससे आपको थाइराइड में बहुत ज्यादा लाभ होता है और थाइराड के साथ साथ थाइराड के सभी कम्पलीकॉशन्स दूर हो जाते है 


थाइराइड के कई कारन हो सकते है इसलिए थाइराड का निवारण 


प्राणायाम से हो इसलिए पतंजलि योगपीठ में ८ प्राणायाम कराया जाता है 


१- भस्रिका ३ से ५ मिनट 


२- कपालभाति थराइड के लिए चाहे थाइराइड का कैंसर हो या चाहे         गाँठ हो २ तरह की गाँठ होती है थाइराड में एक कैंसर वाली और         एक मेलिग्रेंट.. थाइराड पूरा मोटा मोटा हो जाता है और फिर               उसमे   कैंसर हो जाता है. इसके लिए कपालभाति १५ मिनट से        आधा घंटा 


३- बाह्य प्राणायाम १० से १५ मिनट करना चाइये 


४- उज्जाई प्राणायाम थाइराड के सभी मरीजों को करना ही चाइये 


और बिना किसी दवाओं के आप देखेंगे की आपका थायरड धीरे धीरे कंट्रोल में आने लगेगा


पर एकदम से दवा बंद ना करे चाहे ब्लड प्रेशर हो या हाइपर टेंशन हो या 


थायरड की प्रॉब्लम  हो या शुगर की प्रॉब्लम हो दवाये कभी भी एकदम से बंद नहीं करनी चाइये 



जैसे जैसे बीमारिया नियंत्रण में वैसे वैसे डॉक्टर की सलाह से दवाओं को 


काम करना चाइये मकसद दवा खाना नहीं बल्कि बीमारियों को मिटाना है 


और बीमारिया अगर बिना दवा के मिट जाये तो सायद ये बहोत बड़ी बात है और ऐसा योग से होता है 

SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment